सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

दिसंबर, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

12 th physics imp objective hindi mediam ।12 वी भौतिक महत्वपूर्ण वस्तुनिष्ठ प्रश्न।

12 th physics imp objective hindi mediam।12 वी भौतिक महत्वपूर्ण वस्तुनिष्ठ प्रश्न।  (1) दो संधारित्रो को श्रेणीक्रम में जोड़ने पर प्रत्येक संधारित्र पर क्या समान होता है -  उत्तर - : आवेश

(2) अतिचालक पदार्थ की चालकता होती है  उत्तर - : अनंत

(3) ट्रांजिस्टर के उभयनिष्ठ उत्सर्जक प्रवर्धक परिपथ के लिए निवेशी एवं निर्गत सिग्नल के मध्य कलांतर होता है -  उत्तर - : 180°

(4)  दूरसंचार में प्रयुक्त तरंग हैं -  उत्तर - : सूक्ष्म तरंगे

(5) विद्युत धारिता का एस आई (s.i) मात्रक  उत्तर - : फैरड

(6) ओमीय प्रतिरोध है -  उत्तर - : तांबे का तार

(7) स्वरित्र के द्वारा उत्पन्न ध्वनि सिग्नल होता है -  उत्तर - : केवल एनालॉग

(8) 'q' आवेश को 'E' विद्युत क्षेत्र की तीव्रता वाले विद्युत क्षेत्र में रखे जाने पर उसके द्वारा अनुभव किया जाने वाला बल होगा -  उत्तर - : F = qE

(9) बिन्दु आवेश Q के कारण r दूरी पर                              1
उत्तर - :        E  α   _
                             r²


(10) समांतर प्लेट संधारित्र की दो प्लेटों के बीच विभवांतर नियत है। जब प्लेटों के बीच वायु बदलकर परावैद्य…

12 वी भौतिक महत्वपूर्ण वस्तुनिष्ठ प्रश्न। 12 th physics imp objective in hindi। hindi mediam

12 वी भौतिक महत्वपूर्ण वस्तुनिष्ठ प्रश्न। 12 th physics imp objective in hindi।  hindi mediam
(1) विद्युत धारिता का एस आई (S.I) मात्रक

उत्तर - : फैरड
(2) दो संधारित्रो को श्रेणी क्रम में जोड़ने पर प्रत्येक संधारित्र पर समान होगा -  उत्तर - : आवेश  (3) धातुओ का परावैद्युतांक होता है -  उत्तर - : अनन्त
(4) वायु का परावैद्युतांक है।  उत्तर - : 1 (5)  समांतर प्लेट संधारित्र की दो प्लेटों के बीच विभवान्तर नियत है। जब प्लेटों के बीच वायु बदलकर परावैद्युत पदार्थ रख दिया जाता है, तो विद्युत क्षेत्र की तीव्रता - उत्तर - : घट जाती है 
(6) समविभव पृष्ठ और विद्युत बल रेखाओं के बीच का कोण होता है- उत्तर - : 0 (7) दो बिंदु आवेश q एक दूसरे से 2a दूरी पर रखे हैं इनके ठीक मध्य बिंदु पर विद्युत विभव होगा। उत्तर - : शून्य  (8) 1 माइक्रोफैरड धारिता के गोलीय चालक की त्रिज्या होगी- उत्तर - : 9000 किलोमीटर
(9) पृथ्वी का विद्युत विभव माना जाता है। उत्तर - : शून्य (10) समांतर प्लेट संधारित्र की प्लेट के बीच की दूरी बढ़ाने पर उसकी धारिता हो जाती है। उत्तर - : कम
अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी ओर आपको एक अच्छी मिली…

फैराडे के विद्युत अपघटन से संबंधित नियम लिखिए। फैराडे के विद्युत अपघटन से संबंधित प्रथम व द्वितीय नियम लिखिए।

फैराडे का विद्युत अपघटन से संबंधित प्रथम नियम। "विद्युत अपघटन क्रिया में किसी इलेक्ट्रोड पर मुक्त हुए या जमा हुए पदार्थ का द्रव्यमान, उसमे बहने वाले आवेश की मात्रा के अनुक्रमानुपाती होता है। " अर्थात्              m  α  Q              m  =  ZQ


फैराडे का विद्युत अपघटन से संबंधित द्वितीय नियम।  " यदि समान प्रबलता की धारा, समान समय तक विभिन्न वोल्टमीटरो मे प्रवाहित की जाए तो उनके इलेक्ट्रॉडो पर मुक्त हुए या एकत्रित हुए पदार्थों के  द्रव्यमान, उन तत्वों के रासायनिक तुल्यांको के अनुक्रमानुपाती होते हैं। "
अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी ओर आपको एक अच्छी मिली तो आप इसे अन्य लोगों से भी शेयर करे इस पोस्ट facebook, whatsapp, सभी जगह शेयर करे ताकी अन्य लोगों को भी जानकारी मिल सके। अगर आपका कोई प्रश्न है तो कमेन्ट में लिखे। आपको इसी तरह की जानकारी मिलती रहे इसके लिए हमे सबसे ऊपर तीन लाइन दिख रही होगी उस पर क्लिक करने के बाद हमे फॉलो करे। आपका बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद। खूब पड़े खूब बड़े। 

अगर आप जानना चाहते हैं कि स्टडी केसे करे, कोनसी बुक खरीदे पूरी तरह मुफ्त ओर हर परिक्षा क…

विद्युत वाहक बल क्या है? विभवांतर क्या है? विद्युत वाहक बल और विभवांतर में अंतर।

विद्युत वाहक बल क्या है?  "सेल के खुले परिपथ में सेल के इलेक्ट्रॉनों के बीच के  विभवांतर को विद्युत वाहक बल कहते हैं। "
विभवांतर क्या है?  "बंद परिपथ में किन्हीं दो बिंदुओं के विभव के अंतर को  विभवांतर कहते हैं। "


विद्युत वाहक बल और विभवांतर में अंतर।  वि. वा. बल           विभवांतर (1)सेल के खुले परिपथ में  -  बंद परिपथ में किन्हीं दो सेल के इलेक्ट्रॉनों के बीच     बिंदुओं के विभव के अंतर  के  विभवांतर को विद्युत        को  विभवांतर कहते हैं। वाहक बल कहते हैं।
(2)विद्युत परिपथ भंग होने  -  विद्युत परिपथ भंग होने  पर भी इसका अस्तित्व          पर इसका अस्तित्व नहीं  रहता है।                            रहता है। 
(3)इसका मान परिपथ के   -  इसका मान दो बिंदुओं के प्रतिरोध पर निर्भर नहीं          बीच के प्रतिरोध पर  करता है।                            निर्भर करता है। 
(4)इसका मान सदैव          -  इसका मान सदैव विद्युत   विभवांतर से अधिक होता     वाहक बल से कम होता   है।                                    है। 
अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी ओर आपको एक अच्छी मिली तो आप इसे अन्य लो…

प्राथमिक सेल और द्वितीयक सेल क्या है ? प्राथमिक और द्वितीयक सेल में अंतर।

प्राथमिक सेल क्या है? "वह सेल जिन्हे पुनः आवेशित नहीं जा सकता है ओर इसमे रासायनिक क्रिया अनुक्रमणीय होती है, प्राथमिक सेल कहलाता है।"

द्वितीयक सेल क्या है?  "वह सेल जिन्हे पुनः आवेशित किया जा सकता है ओर इसमे रासायनिक क्रिया उत्क्रमणीय होती है, द्वितीयक सेल कहलाता है।"

ज्ञान योग्य बात 👇 रॉकेट क्या है? इसकी खोज किसने और कब की। रॉकेट कैसे बनता है? केसे उड़ता है? ईंधन, संरचना, भारत के प्रमुख रॉकेट और प्रक्षेपण स्थल। रॉकेट नोदन क्या है?

प्राथमिक सेल और द्वितीयक सेल में अंतर। प्राथमिक सेल     द्वितीयक सेल 
(1) यह सस्ता होता है।  -   यह महंगा होता है।

(2)यह आकार में छोटा  -   यह आकार में बढ़ा व
व हल्का होता है।              भारी होता है।

(3)इसे पुनः आवेशित    -   इसे पुनः आवेशित किया
नहीं किया जा सकता है,     जा सकता है, क्योंकि
क्योंकि इसमें रासायनिक     इसमें रासायनिक क्रिया
क्रिया अनुक्रमणीय होती      उत्क्रमणीय होती है।
है।

(4)इसका उपयोग टॉर्च,  -    इसका उपयोग कार,
घड़ियों,  ट्रांजिस्टर सर्किट     एम्पलीफायर इत्यादि में
आदि में किया जाता है,        किया जाता है , जहां
ज…

आवेश के संरक्षण का सिद्धांत (नियम) क्या है? कुलॉम के व्युत्कृम वर्ग का नियम लिखिए। कुलॉम के नियम की सीमाएँ ओर बिन्दु आवेश क्या है?

आवेश के संरक्षण का सिद्धांत (नियम) क्या है?  " किसी प्रथक्कृत निकाय में धनावेश और ऋणावेश का बीजीय योग सदैव शून्य होता है अर्थात आवेश को ना तो उत्पन्न किया जा सकता है और ना ही नष्ट किया जा सकता है। इसे केवल विभिन्न तरीकों से विभिन्न समूहों में परिलक्षित किया जा सकता है जब कांच की छड़ को रेशमी कपड़े पर रगड़ते हैं तो कांच की छड़ से इलेक्ट्रॉन रेशमी कपड़े में चले जाते हैं तब कांच की छड़ धनावेशित तथा रेशमी कपड़ा ऋणावेशित हो जाता है कांच की छड़ में जितना धन आवेश होता है रेशमी कपड़े में उतना ही ऋण आवेश होता है अतः इसका कुल आवेश शून्य होता है। "


ज्ञान योग्य बात 👇 रॉकेट क्या है? इसकी खोज किसने और कब की। रॉकेट कैसे बनता है? केसे उड़ता है? ईंधन, संरचना, भारत के प्रमुख रॉकेट और प्रक्षेपण स्थल। रॉकेट नोदन क्या है?

बिन्दु आवेश क्या हैं?  "  जब दो आवेशित पिंडों की विमाएं उनके बीच की दूरी की तुलना में नगण्न होती है और ऐसे आदेशों को बिंदु आवेश कहते हैं। "
कुलॉम के व्युत्कृम वर्ग का नियम क्या है? “किन्ही दो बिंदु आवेशो के बीच लगने वाला आकर्षण या प्रतिकर्षण बल उन आदेशों के परिणाम के गुण…