सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

जुलाई, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

विशिष्ट प्रतिरोध क्या है? विशिष्ट प्रतिरोध का मात्रक ओर विशिष्ट प्रतिरोध को प्रभावित करने वाले कारक की विस्तृत जानकारी हिंदी में।

विशिष्ट प्रतिरोध क्या है? विशिष्ट प्रतिरोध किसे कहते है?  हम जानते हैं कि किसी चालक का प्रतिरोध R उसकी लंबाई l तथा क्षेत्रफल A पर निर्भर करता है।प्रतिरोध लंबाई के अनुक्रमानुपाती ओर क्षेत्रफल के व्युत्क्रमानुपाति होता है।  Rl     ओर    ∝ 1/A

                                R ∝ l/A

                               R=p l /A


( जहां p एक नितांक है इसे चालक का विशिष्ट प्रतिरोध कहते हैं ) 


p =  RA / I


विशिष्ट प्रतिरोध का मात्रक। विशिष्ट प्रतिरोध का SI पद्धति में मात्रक 
यह एक अदिश राशि हैं तथा SI पद्धति में मात्रक ohm × m   (ओम ×मीटर )  होता हैं ।
                        यदि A=1   ओर   l=1 हो तो

p=R

इस प्रकार किसी एकांक लंबाई ओर एकांक अनुप्रस्थ परिक्षेद के क्षेत्रफल के चालक के प्रतिरोध को ही विशिष्ट प्रतिरोध कहते हैं। 


ज्ञान योग्य बात 👇 रॉकेट क्या है? इसकी खोज किसने और कब की। रॉकेट कैसे बनता है? केसे उड़ता है? ईंधन, संरचना, भारत के प्रमुख रॉकेट और प्रक्षेपण स्थल। रॉकेट नोदन क्या है?


विशिष्ट प्रतिरोध को प्रभावित करने वाले कारक की जानकारी नीचे दी गई है। 

विशिष्ट प्रतिरोध को प्रभावित करने वाले कारक - :

प्रतिरोध क्या है? प्रतिरोध को प्रभावित करने वाले कारक की पूरी जानकारी SI मात्रक सहित।

प्रतिरोध क्या है? प्रतिरोध किसे कहते हैं? 
प्रतिरोध क्या है - : "जब किसी चालक में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है, तो चालक विद्युत धारा के मार्ग में रुकावट डालता है। इसे चालक का प्रतिरोध कहते है ।"

ज्ञान योग्य बात 👇 रॉकेट क्या है? इसकी खोज किसने और कब की। रॉकेट कैसे बनता है? केसे उड़ता है? ईंधन, संरचना, भारत के प्रमुख रॉकेट और प्रक्षेपण स्थल। रॉकेट नोदन क्या है?

प्रतिरोध = विभवान्तर /धारा 

"किसी चालक पर आरोपित विभवान्तर ओर उसमें प्रवाहित धारा के अनुपात को चालक का प्रतिरोध कहते है। यह एक अदिश राशि है तथा SI पद्धति में इसका मात्रक ओम (ohm) होता है।"

              1000 (ohm) = 1 k (ohm)

           1000000 (ohm) = 1 m (ohm)

          1 (ohm) ओम = 1 वोल्ट / 1 एम्पीयर

जब किसी चालक के सिरों के बीच 1 वोल्ट का विभवान्तर लगाया जाता है ओर उसमे बहाने वाली धारा का मान 1 एम्पीयर हो तो चालक का प्रतिरोध 1(ohm) होता है।                       


प्रतिरोध को प्रभावित करने वाले कारक - 
1.लंबाई पर - : लंबे तार का प्रतिरोध अधिक तथा छोटे तार का प्रतिरोध कम होता है। अर्थात किसी चालक का प्रतिरो…

ओम का नियम क्या है? ओर इसकी शर्ते तथा नियम का सत्यापन। विस्तृत जानकारी

ओम का नियम क्या है?ओम का नियम किसे कहते हैं?  "जब किसी चालक की भौतिक अवस्था (लंबाई, ताप) मैं कोई परिवर्तन नहीं हो रहा हो तो चालक में प्रवाहित धारा उसके सिरो के बीच आरोपित विभवान्तर के अनुक्रमानूपाती होती है ।" यही ओम का नियम है।
                             यदि चालक के सिरो के बीच आरोपित विभवान्तर v ओर उसमें प्रवाहित धारा I हो तो
                              v ∝ I

                               v= RI     

(जहां R एक नितांक है, इसे चालक का प्रतिरोध कहते हैं।) 


                              R=v/I
प्रतिरोध = विभवान्तर / धारा

ज्ञान योग्य बात 👇 रॉकेट क्या है? इसकी खोज किसने और कब की। रॉकेट कैसे बनता है? केसे उड़ता है? ईंधन, संरचना, भारत के प्रमुख रॉकेट और प्रक्षेपण स्थल। रॉकेट नोदन क्या है?
ओम के नियम की शर्तें - :

चालक का ताप नियत रहना चाहिए।  2. चालक मे कोई विकृति नहीं होना चाहिए।

ओम के नियम का सत्यापन - : कोई चालक ओम के नियम का पालन कर रहा है या नहीं इस बात का पता लगाने के लिए चालक के सिरे के बीच भिन्न - भिन्न मानो के विभवान्तर लगाकर उसमें प्रवाहित धारा को नोट करते है। तथा विभवान्तर …